Posts

Showing posts from May, 2019

गणित एवम संस्कृत भाषा

वर्तमान शिक्षा प्रणाली के चलते जहां विदेशी भाषाओं को पढ़ना ,पढ़ाना स्टेटस सिंबल बन गया है। वहां हिंदी और संस्कृत केवल दया की पात्र ही बनती नजर आ रही है। परंतु यह सत्य है कि जितने भी विकसित देश हैं उनका सभी ज्ञान ,तकनीकी उनकी अपनी राष्ट्रीय भाषा में निहित है ,तभी वे विकसित बन पाए हैं। परंतु भारत देश के बारे में क्या कहा जाए ?लॉर्ड मेकाले की शिक्षा पद्धति की क्या बात की जाए? यदि इसके बारे में बात की तो बहुत सी बातें और निकल कर आएंगी।
परंतु यह सत्य है कि हमारा सभी विषयों सम्बन्धी ज्ञान हमारी संस्कृत भाषा में हजारों वर्ष पहले से ही उपलब्ध रहा है और आज विदेशी लोग हमारी संस्कृत ,हमारी संस्कृति पर शोध कर रहे हैं ।
परंतु भारत देश में है संस्कृत और हिंदी भाषा की जो स्थिति है वह किसी से छिपी नहीं है।
देश में एक ऐसा वर्ग बन गया है जो कि संस्कृत भाषा से तो शून्य हैं परंतु उनकी छद्म धारणा यह बन गयी है कि संस्कृत भाषा में  जो कुछ भी लिखा है वे सब पूजा पाठ के मंत्र ही होंगे।परंतु जबकि वास्तविकता इससे भिन्न है।देखते हैं -*"चतुरस्रं मण्डलं चिकीर्षन्न् अक्षयार्धं मध्यात्प्राचीमभ्यापातयेत्।*
*यदतिश…